• एचआर@ग्लांस

    ’सभी हितधारकों की पसंद की उपयोगिता होने’ के बारे में हमारे दृष्टिकोण का एहसास करने के लिए, टाटा पावर-DDL का मानना है कि प्रतिभाशाली जनबल को प्राप्त करना, उसे बनाए रखना और विकसित करना किसी भी संगठन की सफलता का रहस्य है। टाटा पावर - DDL ने दि इकोनॉमिक टाइम्स द्वारा दि ग्रेट प्लेस टू वर्क इंस्टीट्यूट के साथ साझेदारी में किए गए सर्वेक्षण में 'एनर्जी, ऑयल एंड गैस सेक्टर’ में दूसरा और 'इंडियाज बेस्ट कंपनीज़ टू वर्क फॉर 2017’ में 37वां स्थान प्राप्त किया है।

    टाटा पावर-DDL यह स्वीकार करता है कि इसके लोग इसकी सफलता का एक अभिन्न हिस्सा हैं। हर कोई जो टाटा पावर– DDL का हिस्सा बन जाता है, वब टाटा मान्यताओं और नैतिक मानकों को आत्मसात कर उनके अनुसार रहता है। उनके कौशल और प्रेरणा कंपनी की उपलब्धियों में योगदान देने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

    संगठन के प्रत्येक भाग में व्यावसायिक और स्व-प्रेरित व्यक्ति ग्राहक सेवा, तकनीकी सफलताओं, नवाचारों और कंपनी के निरंतर विकास में उत्कृष्टता प्राप्त करने की कुंजी हैं।

    एक पारदर्शी और प्रभावी दो-तरफ़ा संचार के साथ, जो अपने शीर्ष प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच खुलेपन और ईमानदारी को बढ़ावा देता है, टाटा पावर - DDL अपने कर्मचारियों के व्यक्तिगत और व्यावसायिक विकास दोनों का ध्यान रखने का वादा करता है। यह सुनिश्चित करने के लिए बहुत ज्यादा ध्यान दिया जाता है कि कर्मचारियों को कक्षाओं में मिलने वाली शिक्षा और बाहरी जोखिमों के सही मिश्रण के साथ सीखने और उन्हें उन्नत करने के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान किए जाते हों। अच्छी तरह से परिभाषित और तैयार किये गये कैरियर पथ कर्मचारियों को संगठन में उर्ध्वगामी गतिशीलता और विकास के लिए उनकी आवश्यकता को समझने में मदद करते हैं। योग्यता आधारित मूल्यांकन और प्रदर्शन से जुड़े प्रोत्साहन भी हमारे जनबल को प्रेरित करते हैं, ताकि वे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें।

    योग्यता-उन्मुख, लिंग-तटस्थ नियोक्ता को समान अवसर देते हुए, टाटा पावर- DDL, कार्य-जीवन संतुलन के महत्व को समझता है। कर्मचारी अनुकूल नीतियों, तगड़ा इनाम और पहचान दिलाकर, खेल, व्यवसायिक सांस्कृतिक समारोह और सामाजिक नवाचार पहल में भागीदारी सुनिश्चित की जाती है ताकि उनके दिन के सुखद स्मृतियों के साथ-साथ उसे तृप्त, खुश और कायाकल्प रखने के लिए उसके कार्य क्षेत्रों के बाहर कर्मचारी के हितों को भी पूरा किया जाता हो।